बैंकिंग

Internet Banking: इंटरनेट बैंकिंग क्या है? विशेषताएं, सेवाएं और इसके प्रकार जानिए

Internet Banking: इंटरनेट बैंकिंग क्या है? विशेषताएं, सेवाएं और इसके प्रकार जानिए
Nikita
Nikita

Internet Banking: नेट बैंकिंग आपकी सभी बैंकिंग सेवाओं को ऑनलाइन एक्सेस करने का आसान, तेज और सुरक्षित तरीका है। आज के इस लेख में, हम इंटरनेट बैंकिंग क्या है, उसकी विशेषताएं, नेट बैंकिंग सेवाएं और इसके प्रकार आदि के बारे में  चर्चा करेंगे।

इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking)

इंटरनेट बैंकिंग, जिसे ऑनलाइन बैंकिंग (Online Banking) या ई-बैंकिंग (e-Banking) या नेट बैंकिंग (Net Banking) के रूप में भी जाना जाता है। यह एक प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक बैंकिंग सेवा (Electronic Banking Service) है जो ग्राहकों को इंटरनेट के माध्यम से कई फाइनेंशियल और नॉन-फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन करने में मदद करती है।

इंटरनेट या ऑनलाइन बैंकिंग (Internet/Online Banking) या नेट-बैंकिंग (Net Banking) के साथ, ग्राहक दूसरे बैंक अकाउंट में आसानी से पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं, अकाउंट में बकाया राशि को चेक कर सकते हैं, बैंक डिटेल्स देख सकते हैं, बिलों का भुगतान कर सकते हैं।

भारत में ई-बैंकिंग सेवाएं (e-Banking Service in India)

मोबाइल बैंकिंग (Mobile Banking)

मोबाइल बैंकिंग चलते-फिरते सुविधा के लिए डिज़ाइन किया गया है। स्मार्टफोन से, उपयोगकर्ता आसानी से अपने बैंक अकाउंट तक पहुंच सकते हैं, ट्रांजैक्शन देख सकते हैं, भुगतान कर सकते हैं और पैसों को दूसरे बैंक में ट्रांसफर कर सकते हैं।

एटीएम (ATM)

ऑटोमेटेड टेलर मशीन (ATM) ई-बैंकिंग (e-Banking) के प्रकारों में से एक है। ATM ग्राहकों को कैश निकलने, पैसे जमा करने, डेबिट कार्ड पिन चेंज और अन्य बैंकिंग सेवाएं देने की अनुमति देते हैं। ATM का उपयोग करने के लिए आपके पास पासवर्ड होना चाहिए।

डायरेक्ट विड्रॉल (Direct Withdraws)

ई-बैंकिंग (e-Banking) के तहत यह सर्विस ग्राहक को अपने अकाउंट में सैलरी, सरकारी सब्सिडी, या एक्स्ट्रा इनकम जमा करने की सुविधा प्रदान करती है। इसके साथ ही  ग्राहक बैंक को अपने अकाउंट से बिलों का भुगतान, किश्तों, बीमा जैसे दूसरे भुगतानों  के लिए पैसे काटने की अनुमति देते है।

इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (EFT)

EFT से एक बैंक से दूसरे बैंक में आसानी से पैसे ट्रांसफर (डिजिटल रूप) किए जाते है।  जिस वजह से इसमें कागजी दस्तावेजों या बैंक कर्मचारी की आवश्यकता नहीं होती है।

डेबिट कार्ड (Debit)

आज के समय पर लगभग हर व्यक्ति के पास डेबिट कार्ड है जो आपके बैंक अकाउंट से लिंक होता है। आप अपने डेबिट कार्ड का उपयोग सभी प्रकार के ट्रांजैक्शन के लिए कर सकते हैं, इस्तेमाल की राशि आपके अकाउंट से तुरंत डेबिट हो जाती है।

नेट बैंकिंग पर उपलब्ध पैसे ट्रांसफर करने के प्रकार (Types of Money Transfer Available on Net Banking) 

  • NEFT (नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर): 2005 में आरबीआई (RBI) द्वारा शुरू किया गया एक इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर सिस्टम है। संगठन, कंपनियां और व्यक्ति इसका उपयोग नजदीकी बैंक ब्रांच जाएं बिना घर बैठे, एक बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर सकते है। NEFT पूरे साल और 24/7 उपलब्ध। ट्रांसफर प्रक्रिया पूरी होने में 30 मिनट से लेकर 2 घंटे तक का समय लग सकता है।
  • IMPS (इमीडियेट मोबाइल पेमेंट्स सर्विस): इसका उपयोग आमतौर पर मोबाइल, इंटरनेट और एटीएम के माध्यम से पूरे भारत में बैंकों के अंदर तुरंत धनराशि ट्रांसफर करने के लिए किया जाता है।
  • RTGS  रियल-टाइम ग्रॉस सेटलमेंट): यदि आप पैसे ट्रांसफर करने के लिए इस ऑनलाइन पेमेंट मोड का उपयोग करते हैं, तो राशि उसी समय में लाभार्थी के अकाउंट में जमा हो जाएगी। RTGS साल के 365 दिन और 24/7 उपलब्ध है।

ऑनलाइन बैंकिंग की विशेषताएं (Online/ Net Banking Features)

  • अकाउंट डिटेल्स को ऑनलाइन चेक करें।
  • फिक्स्ड डिपॉज़िट अकाउंट खोलें।
  • प्रीपेड मोबाइल, डीटीएच रिचार्ज, पानी बिल और बिजली बिल जैसे उपयोगिता बिलों का भुगतान करें।
  • चलते फिरते पैसों को आसानी से और मिनटों में ट्रांसफर करें।
  • पासवर्ड होने के चलते यह मेथड सुरक्षित और सुविधाजनक है।
  • फाइनेंशियल और नॉन-फाइनेंशियल बैंकिंग सर्विस प्रदान करता है।
  • बैंक बैलेंस, ट्रांजैक्शन हिस्ट्री, स्टेटमेंट आदि को ट्रैक कर सकते है।
  • किसी भी समय एनईएफटी, आरटीजीएस, आईएमपीएस के माध्यम से ऑनलाइन फंड ट्रांसफर करें।

नेट बैंकिंग के लिए रजिस्ट्रेशन करें (Net Banking Registration)

जब भी ग्राहक नए बैंक अकाउंटके लिए आवेदन करते हैं तो अधिकांश बैंक उनके लिए एक इंटरनेट बैंकिंग अकाउंट खोलते हैं। यदि आपके पास पहले से इंटरनेट बैंकिंग खाता नहीं है तो नीचे बताएं गए स्टेप्स को फॉलो करें:

  • आप अपनी बैंक पासबुक, आधार कार्ड आदि जैसे आवश्यक दस्तावेजों के साथ इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) एप्लीकेशन फॉर्म अपनी बैंक ब्रांच में जमा कर सकते हैं।
  • बैंक सभी डिटेल्स को वेरीफाई करेगा और फिर इंटरनेट बैंकिंग के लिए ग्राहक आईडी और पासवर्ड जारी करेगा।
  • नेट-बैंकिंग (Net Banking) एप्लीकेशन फॉर्म आपके बैंक की आधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है।
  • क्रेडेंशियल प्राप्त करने के बाद, आप लॉग-इन कर सकते हैं और नेट-बैंकिंग का उपयोग करके इसकी सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं।

इंटरनेट बैंकिंग से जुड़े सवाल (Internet Banking FAQs)

क्या मैं इंटरनेशनल ट्रांजैक्शन के लिए ई-बैंकिंग (e-Banking) सेवाओं का उपयोग कर सकता हूं?

हां, ई-बैंकिंग इंटरनेशनल ट्रांजैक्शन की सुविधा प्रदान करती है।

इंटरनेट बैंकिंग क्या है? (What is Internet Banking)

इंटरनेट बैंकिंग, जिसे ऑनलाइन बैंकिंग (Online Banking) या ई-बैंकिंग (e-Banking) या नेट बैंकिंग (Net Banking) के रूप में भी जाना जाता है। यह  ग्राहकों को इंटरनेट के माध्यम से कई फाइनेंशियल और नॉन-फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन करने में मदद करती है। इस मेथड की मदद सड़ ग्राहक दूसरे बैंक अकाउंट में आसानी से पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं, अकाउंट में बकाया राशि को चेक कर सकते हैं, बैंक डिटेल्स देख सकते हैं, बिलों का भुगतान कर सकते हैं।

नेट बैंकिंग के लिए ऑनलाइन रजिस्टर कैसे करें? (How to Register for Net Banking Online)

ऑफलाइन रजिस्टर के अलावा, जिसमें बैंक में एप्लीकेशन फॉर्म  जमा करना शामिल है।  इसके साथ ही उपयोगकर्ता बैंक की आधिकारिक वेबसाइट से नेट-बैंकिंग (Net Banking) के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। हालांकि, यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि सभी बैंक इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) सेवाओं के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की पेशकश नहीं करते हैं।

इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) के जरिए मनी ट्रांसफर कैसे करें?

इंटरनेट-बैंकिंग के माध्यम से फंड ट्रांसफर करने की प्रक्रिया ज्यादातर बैंकों के लिए समान है। इसके लिए आपको अपने बैंक के आधिकारिक नेट-बैंकिंग पोर्टल पर लॉग-इन करने के लिए अपनी कस्टमर आईडी और पासवर्ड का उपयोग  करके आगे बताएं गए स्टेप्स को फॉलो करें।

क्या मैं अपना नेट बैंकिंग (Net Banking) पासवर्ड बदल सकता हूं ?

हां, आप जब चाहें अपना नेट-बैंकिंग (Net Banking) पासवर्ड बदल सकते हैं। यह सुझाव दिया गया है कि उपयोगकर्ताओं को हर दो महीने में कम से कम एक बार पासवर्ड बदलना चाहिए।

 

अन्य ब्लॉग

SBI MUDRA Loan- जानें एसबीआई ई-मुद्रा लोन क्या है और...

Vandana Punj
Vandana Punj

कैश क्रेडिट (Cash Credit) एक शॉर्ट टर्म लोन होता है,...

Vandana Punj
Vandana Punj

PAN Card Form- जानें पैन कार्ड फॉर्म 49A और 49AA क्य...

Vandana Punj
Vandana Punj