सेविंग स्कीम

SSY: क्या है सुकन्या समृद्धि योजना, इसके लाभों के बारे में जानें

SSY: क्या है सुकन्या समृद्धि योजना, इसके लाभों के बारे में जानें
Vandana Punj
Vandana Punj

अपनी बेटी के लिए निवेश करना चाहते हैं तो सुकन्या समृद्धि योजना (sukanya samriddhi yojana) आपके लिए बेहतर ऑप्शन हो सकता है। योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए लेख पढ़ें:

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है?

सुकन्या समृद्धि योजना सरकार द्वारा शुरू की गई बेटियों के लिए एक बचत योजना है। इसे साल 2015 में ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं’ मुहिम के तहत शुरू किया गया था। योजना के तहत अभिभावक (पेरेंट्स) किसी कॉमर्शियल बैंक या पोस्ट ऑफिस में अपनी 10 वर्ष से कम आयु की बेटी के नाम से बचत खाता खुलवा सकते हैं।

योजना का उद्देश्य माता-पिता द्वारा बेटी के भविष्य के लिए बचत को बढावा देना है। इसलिए सरकार सुकन्या योजना पर अच्छा इंटरेस्ट रेट (SSY Interest Rate) भी ऑफर करती है। वित्तीय वर्ष 2023-24 (Q4) के लिए 8.2% प्रति वर्ष की दर से ब्याज प्रदान किया जा रहा है। सुकन्या योजना में अकाउंट खोलने की तारीख से लेकर 15 वर्ष तक निवेश किया जाता है या फिर बेटी की आयु 18 वर्ष/21 वर्ष पूरा होने तक जारी रखा जाता है।

सुकन्या समृद्धि योजना के लाभ

  • गारंटीड रिटर्न- चूंकि सुकन्या समृद्धि योजना एक सरकारी योजना है, इसलिए इसमें गारंटीड रिटर्न मिलने का भरोसा है यानी जोखिम न के बराबर है।
  • बेहतर रिटर्न- SSY में PPF जैसी अन्य सरकारी योजनाओं की तुलना में  बेहतर रिटर्न मिलता है। वर्तमान में वित्त वर्ष 2023-24 (Q4) के लिए इसकी ब्याज दरें 8.2% है।
  • कंपाउंडिंग का लाभ- सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) एक लॉन्ग टर्म निवेश योजना है। साथ ही इसमें वार्षिक कंपाउडिंग (चक्रवृद्धि) ब्याज का लाभ भी मिलता है। इसलिए, अगर आप कम राशि भी निवेश करते हैं तो आपको लंबी अवधि में अच्छा रिटर्न मिलने की उम्मीद है।
  • फ्लेक्सिबल निवेश विकल्प- SSY योजना के तहत एक वित्त वर्ष में न्यूनतम 250 रु और अधिकतम 1.5 लाख रु. तक निवेश किया जा सकता है। निवेशक अपनी क्षमतानुसार निवेश की राशि चुन सकते हैं।
  • आसानी से अकाउंट ट्रांसफर- SSY अकाउंट को देश के एक बैंक/डाकघर से दूसरे बैंक/डाकघर में आसानी से ट्रांसफर करवाया जा सकता है।
  • टैक्स बेनिफिट- सुकन्या समृद्धि योजना निवेशकों को टैक्स बेनिफिट भी प्रदान करता है। आयकर की धारा 80C के तहत सालाना 1.5 लाख रु. तक टैक्स में योजना के तहत छूट मिलती है।

एसएसवाई आवेदन से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें

योजना के लिए आवेदन करने से पहले निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें:

  • बालिका/लड़की का नाम, उसकी जन्म तिथि (प्राइमरी अकाउंट होल्डर)
  • डिपॉजिट राशि, चेक/डीडी नंबर और तारीख (शुरू की डिपॉजिट राशि के लिए इस्तेमाल किया जाता है)
  • अकाउंट खोलने वाले माता-पिता/अभिभावक का नाम (जॉइंट होल्डर)
  • अभिभावक का पहचान पत्र (ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, आदि) साथ ही आईडी प्रूफ अनुसार करंट और परमानेंट एड्रेस
  • किसी अन्य KYC दस्तावेज़ की जानकारी (पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, आदि)

फॉर्म में ऊपर दी गई जानकारियों को भरने के बाद, सभी ज़रूरी दस्तावेज़ की कॉपी के साथ फॉर्म को पोस्ट ऑफिस/बैंक में जमा कराना होगा।

सुकन्या समृद्धि योजना से संबंधित प्रश्न

एसएसवाई योजना की न्यूनतम राशि न जमा कर पाने पर क्या होगा?

अगर कोई सुकन्या अकाउंट होल्डर योजना की न्यूनतम राशि (250 रु.) भी जमा नहीं कर पाता है, तो उसके अकाउंट को ‘डिफॉल्ट अकाउंट’ कहा जाएगा। लेकिन इस डिफॉल्ट अकाउंट पर भी मैच्योरिटी की तारीख तक लागू ब्याज मिलता रहेगा। हालांकि ‘डिफॉल्ट अकाउंट’ को दुबारा से खोलना के लिए 15 साल पूरा होने से पहले योजना की न्यूनतम राशि+जुर्माना (250+ 50= 300) भरना होगा, तभी SSY अकाउंट रिओपन होगा।

क्या सुकन्या योजना से मैच्योरिटी से पहले भी पैसे निकाले जा सकते हैं?

सुकन्या योजना से समय से पहले भी पैसे निकाले जा सकते हैं। हालांकि इसकी कुछ शर्तें हैं जैसे- अगर लड़की की आयु 18 साल पूरी हो जाती है तब या फिर उसके 10वीं पास करने के बाद आगे की पढ़ाई के लिए 50% तक पैसा निकाला जा सकता है। पैसा एकमुश्त या किश्तों में मिल सकता है।

एक साल में सुकन्या समृद्धि योजना में कितनी राशि निवेश कर सकते हैं?

कोई भी निवेशक एसएसवाई योजना में एक वित्त वर्ष में न्यूनतम 250 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रु. तक निवेश कर सकता है।

एसएसवाई योजना में कितने समय के लिए निवेश करना होता है?

सुकन्या योजना में 15 साल के लिए निवेश करना होता है। यानी निवेशक को अकाउंट खोलने की तारीख से लेकर 15 साल तक हर साल कम से कम अकाउंट में न्यूनतम राशि मैनटेन करना होता है। या फिर लड़की की आयु 18 वर्ष या 21 वर्ष होने तक निवेश करना होता है।

एसएसवाई के तहत कितने खाते खुलवाए जाएं सकते हैं?

एक परिवार में केवल दो बेटियों के नाम पर ही SSY अकाउंट खुलवाया जा सकता है। हालांकि कुछ विशेष मामलों में दो से अधिक खाते खुलवाएं जा सकते हैं। जैसे- अगर जुड़वां या तीन लड़कियों के जन्म से पहले एक लड़की का जन्म होता है या अगर पहले एक साथ तीन बच्चे पैदा होते हैं, तो तीसरा अकाउंट खोला जा सकता है।

क्या सुकन्या योजना को मैच्योरिटी से पहले बंद कर सकते हैं?

हां, लेकिन कुछ विशेष परिस्थितयों जैसे- अकाउंट होल्डर के निधन होने पर, किसी गंभीर बीमारी होने पर। इसके अलावा अगर केंद्र यह निर्देश जारी करता है कि निवेशक अकाउंट में निवेश करने योग्य नहीं है। तो सुकन्या अकाउंट को समय से पहले बंद किया जा सकता है।

SSY अकाउंट होल्डर अपना अकाउंट कब मैनेज कर सकती है

लड़की नाबालिग होने (18 साल आयु पूरा होने पर) अपना अकाउंट खुद मैनेज कर सकती है।

 

अन्य ब्लॉग

SBI MUDRA Loan- जानें एसबीआई ई-मुद्रा लोन क्या है और...

Vandana Punj
Vandana Punj

कैश क्रेडिट (Cash Credit) एक शॉर्ट टर्म लोन होता है,...

Vandana Punj
Vandana Punj

PAN Card Form- जानें पैन कार्ड फॉर्म 49A और 49AA क्य...

Vandana Punj
Vandana Punj