सेविंग स्कीम

पोस्ट ऑफिस की इन स्कीम में करें इंवेस्ट, मिलेगा दमदार रिटर्न

पोस्ट ऑफिस की इन स्कीम में करें इंवेस्ट, मिलेगा दमदार रिटर्न
Bharti
Bharti

अपने पैसों को बिना रिस्क के निवेश करना और उस पर अधिक रिटर्न कमाना आखिर कौन नहीं चाहता। इसके लिए आप सरकार द्वारा समर्थित पोस्ट ऑफिस स्कीम्स में निवेश कर सकते हैं। इसमें जमा राशि पर गारंटीड रिटर्न मिलता है। कुछ स्कीम्स में इनकम टैक्स डिडक्शन जैसे लाभ भी मिलते हैं। इनमें से कई स्कीम्स खासकर महिलाओं, बुजुर्गों को ध्यान में रखकर तैयार की जाती हैं। चलिए इन स्कीम्स के बारे में जानते हैं और यह देखते हैं कि किस स्कीम में अधिक लाभ मिलता है।

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY)

सुकन्या समृद्धि योजना पोस्ट ऑफिस की अधिक रिटर्न वाली स्कीम्स में शामिल है। सरकार इसमें सालाना 8.2% ब्याज दे रही है। इस स्कीम में सिर्फ वही लोग निवेश कर सकते हैं जिनकी 10 साल से कम उम्र की बेटी है। सबसे खास बात यह है कि न्यूनतम 250 रु. से इसमें निवेश किया जा सकता है। अकाउंट खोलने से 21 साल बाद यह मैच्योर हो जाता है। बच्ची के 18 साल का होने पर आप अकाउंट से पैसे निकाल सकते हैं।

यह भी पढ़ें: सुकन्या समृद्धि योजना या PPF? किस स्कीम में निवेश करें?

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (SCSS)

पोस्ट ऑफिस की सभी स्कीम में से इस स्कीम में सबसे ज़्यादा ब्याज मिल रहा है। इसकी वर्तमान ब्याज दर 8.2% प्रति वर्ष है। इस स्कीम में निवेश करने के लिए उम्र 60 साल से अधिक होनी चाहिए। लेकिन 55 से अधिक या 60 साल से कम उम्र के रिटायर्ड व्यक्ति भी इसमें निवेश कर सकते हैं, पर रिटायरमेंट मिलने के 1 महीने के अंदर इसमें इंवेस्ट करना होगा। आप इस योजना में कम से कम 1000 रु. से निवेश कर सकते हैं। अकाउंट 5 साल में मैच्योर होता है, लेकिन मैच्योर होने पर इसे 3 साल के लिए और एक्सटेंड किया जा सकता है। सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में अधिकतम 30 लाख रुपये जमा किए जा सकते हैं।

यह भी पढ़ें: रिटायरमेंट प्लानिंग के लिए NPS है बढ़िया ऑप्शन, ये हैं इसके लाभ

नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC)

नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट में 7.7% प्रति वर्ष का ब्याज मिलता है, जो सालाना कंपाउंड होता है। इस स्कीम में हर महीने न्यूनतम 1,000 रु. से जमा करना शुरू कर सकते हैं। अधिकतम जितनी चाहे उतनी राशि जमा कर सकते हैं। यह स्कीम 5 साल में मैच्योर होती है और इसमें कोई भी व्यक्ति निवेश कर सकता है। निवेश की गई रकम पर इनकम टैक्स अधिनियम की धारा 80C के तहत टैक्स डिडक्शन का लाभ मिलता है।

किसान विकास पत्र (KVP)

पोस्ट ऑफिस की यह स्कीम खासतौर पर किसानों के लिए तैयार की गई है। इसमें 7.5% की दर से कंपाउंडिंग के आधार पर ब्याज मिल रहा है। अधिकतम निवेश की कोई सीमा नहीं है। न्यूनतम 1,000 रु. से निवेश किया जा सकता है। KVP में नॉमिनेशन की सुविधा मिलती है। KVP में जमा रकम को मैच्योरिटी से पहले निकाला जा सकता है, लेकिन इसे लेकर कुछ शर्तें हैं :-

  • पैसे जमा करने की तारीख से 2 साल 6 महीने के बाद ही पैसा निकाल सकते हैं।
  • डिपॉज़िटर की मृत्यु होने पर, जॉइंट अकाउंट के मामले में किसी एक या सभी अकाउंट होल्डर की मृत्यू होने पर
  • कोर्ट के आदेश पर
  • अगर KVP को कहीं गिरवी रखा गया है तो राजपत्र अधिकारी द्वारा जब्त करने पर

यह भी पढ़ें: अपने पैसे कहां करें इन्वेस्ट? जानिए निवेश के इन प्रकारों को

पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम (MIS)

पोस्ट ऑफिस की अन्य स्कीम से अलग इस स्कीम में एक साथ पैसा जमा करना पड़ता है। सिंगल अकाउंट होल्डर अधिकतम 9 लाख रु. जमा कर सकते हैं। जॉइंट अकाउंट के मामले में अधिकतम जमा राशि 15 लाख रुपये है। अकाउंट में जमा रकम पर 7.5% के दर से ब्याज दिया जाता है। ब्याज का भुगतान मंथली किया जाता है। स्कीम में निवेश करने के लिए आपके पास पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट होना चाहिए। 18 साल या उससे अधिक उम्र का कोई भी व्यक्ति इसमें निवेश कर सकता है। इस स्कीम में निवेश करने के एक साल बाद पैसा निकाला जा सकता है। अगर अकाउंट को 1 साल बाद लेकिन 3 साल से पहले बंद किया जाता है तो जमा राशि से 2% कटौती करने के बाद बाकी रकम का भुगतान किया जाएगा।

महिला सम्मान सेविंग सर्टिफिकेट

महिलाओं के लिए शुरू की गई इस स्कीम में सालाना 7.5% का ब्याज मिल रहा है। इसमें 1,000 रु. से निवेश किया जा सकता है। महिला सम्मान सेविंग सर्टिफिकेट में स्वंय महिलाएं या नाबालिग बच्ची के मामले में अभिभावक निवेश कर सकते हैं। अधिकतम 2 लाख रुपये तक निवेश किया जा सकता है। अकाउंट खोलने के एक साल बाद 40% राशि निकालने की भी सुविधा मिलती है। इसके अलावा, अकाउंट होल्डर को बड़ी बीमारी होने पर प्रीमैच्योर विड्रॉल किया जा सकता है। अगर खाताधारक की मृत्यु हो जाती है तो नॉमिनी अकाउंट से पैसे निकाल सकता है। अकाउंट खोलने से 6 महीने के भीतर प्रीमैच्योर विड्रॉल करने पर 7.5 फीसदी के बजाय 5.5 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा।

यह भी पढ़ें: बेटी के सुरक्षित भविष्य के लिए इन स्कीम्स में निवेश करें

पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉज़िट अकाउंट (TD)

पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉज़िट को डाकघर एफडी के नाम से भी जाना जाता है। जिसमें 1 साल से 5 साल की अवधि के लिए पैसे जमा कर सकते हैं। हर अवधि के लिए ब्याज दर अलग-अलग है। इस स्कीम में 1 साल के लिए निवेश करने पर 6.9%, 2 साल के लिए 7.0%, 3 साल के लिए 7.1%, 5 साल के लिए 7.5 % की दर से ब्याज मिलता है। 5 साल के की पोस्ट ऑफिस एफडी पर आयकर की धारा 80C के तहत 1.5 लाख रुपये तक के निवेश पर टैक्स छूट का लाभ उठा सकते हैं। हालांकि, अकाउंट खोलने के 6 महीने के अंदर इसे तोड़ा नहीं जा सकता।

यह भी पढ़ें: NPS या PPF? दोनों में से किस स्कीम में निवेश करने पर ज़्यादा लाभ मिलेगा?

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)

लॉन्ग टर्म के लिए पैसा निवेश करना चाहते हैं, पब्लिक प्रोविडेंट फंड एक बेहतर विकल्प है। यह 15 साल बाद मैच्योर होती है और इसमें 7.1% की दर से ब्याज मिलता है, जो कंपाउंडिंग के लाभ के साथ आता है। पोस्ट ऑफिस की सभी सेविंग स्कीम्स में से यह सबसे फेमस स्कीम है। आप मिनिमम 500 रु. से इसमें निवेश करना शुरू कर सकते हैं। साथ ही मैच्योरिटी से पहले लेकिन 5 साल बाद पैसे भी निकाल सकते हैं। लेकिन इसके लिए कुछ शर्तें हैं, जैसे : –

  • अकाउंट होल्डर, उसकी पत्नी या बच्चे को कोई जानलेवा बीमारी हो जाए
  • अकाउंट होल्डर या उसके बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए
  • अकाउंट होल्डर के विदेश में बसने पर

 

अन्य ब्लॉग

क्रेडिट कार्ड पर EMI कंवर्जन का लाभ उठाने से पहले इन बातों का रखें ध्यान

अपने क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान न कर पाने पर कस्टमर...

Bharti
Bharti
फाइनेंशियल प्लानिंग: वित्तीय अनिश्चितता से बचने में ये पांच तरीके हैं कामगर

आप अपनी कमाई से अपनी सभी जरूरत के सामान पर खर्च करने...

Vandana Punj
Vandana Punj
होम लोन प्रीपे करने से पहले जानिए इसके फायदा और नुकसान

33 साल के हरीश सिंह ने 8.40% की ब्याज दर पर 35 लाख र...

Nikita
Nikita