पर्सनल लोन

पर्सनल लोन या टॉप-अप लोन: कौन सा है बेहतर विकल्प?

पर्सनल लोन या टॉप-अप लोन: कौन सा है बेहतर विकल्प?
Nikita
Nikita

जो लोग होम लोन का भुगतान कर रहे हैं, वो अपनी किसी भी आर्थिक ज़रूरत के लिए होम लोन के ऊपर टॉप अप लोन ले सकते हैं। ये लोन इस तरह पर्सनल लोन का एक विकल्प बन चूका है। यहां, हम पर्सनल लोन और टॉप-अप होम लोन के बीच एक तुलना करेंगें और जानने की कोशिश करेंगें कि कौन सा बेहतर विकल्प है।

प्रक्रिया में समय

आमतौर पर किसी भी लोन के मुकाबले पर्सनल लोन सबसे जल्दी मिलता है। क्योंकि 2 से 7 दिनों के अन्दर पर्सनल लोन आपको मिल जाता है, और प्री-अप्रूव्ड के मामले में 24 घंटों के भीतर| दूसरी ओर, टॉप-अप होम लोन को मिलने में 1 से 2 सप्ताह का समय मिल जाता है। हालांकि, अब कुछ बैंक प्री-अप्रूव्ड टॉप-अप होम लोन ऑफर कर रहे हैं, जिसमें लोन अप्लाई करने वाले दिन ही लोन राशि ट्रान्सफर हो सकती है। इसलिए, मौजूदा होम लोन ग्राहक जिन्हें जल्द ही पैसे की ज़रूरत है वो पर्सनल लोन का विकल्प चुन सकते हैं अगर उनके पास प्री- अप्रूव्ड टॉप अप होम लोन ऑफर नहीं है।

ये भी पढ़े: होम लोन के बारे में इन ग़लतफ़हमियों से आपको बचना चाहिए

ब्याज दर

पर्सनल लोन की ब्याज दरें 10-36% प्रति वर्ष के बीच होती हैं, ये आवेदक की क्रेडिट प्रोफाइल पर निर्भर करता है। जिसमें क्रेडिट स्कोर, इनकम, लोन राशि और आदि चीज़े महत्व रखती हैं| क्यों कि टॉप अप होम लोन एक सिक्योर्ड लोन है, इसकी ब्याज दरें आमतौर पर पर्सनल लोन की तुलना में कम होती हैं। टॉप-अप होम लोन की ब्याज दरें आपके मौजूदा होम लोन की ब्याज दरों के समान या थोड़ी अधिक होती हैं।

लोन राशि

आप अपने मौजूदा होम लोन में से जितनी राशि का भुगतान कर देते हैं उतनी ही राशि तक का आपको टॉप-अप होम लोन मिल सकता है। बैंक टॉप-अप होम लोन के लिए 50 लाख रु. या उससे भी अधिक तक की मंज़ूरी दे सकते हैं। लंबी अवधि के कारण आसान ईएमआई हो जाने से मौजूदा होम लोन ग्राहक टॉप-अप होम लोन के माध्यम से बड़ी लोन राशि ले सकते हैं। इसके विपरीत, पर्सनल लोन की राशि मुख्य रूप से उधारकर्ता की मासिक आय और लोन भुगतान की उसकी क्षमता पर निर्भर करती है। अधिकांश बैंक आमतौर पर 50,000 रु. से 20 लाख रु. के बीच पर्सनल लोन देते हैं, जबकि कुछ 40 लाख रु. तक का लोन देने को तैयार होते हैं। इस प्रकार, टॉप-अप होम लोन के मामले में बड़ी लोन राशि प्राप्त करने की संभावना अधिक होती है।

ये भी पढ़ें: पर्सनल लोन प्री-पेमेंट के फ़ायदे और नुकसान क्या हैं?

लोन भुगतान अवधि

टॉप-अप होम लोन की भुगतान अवधि आपके मौजूदा होम लोन की शेष अवधि से अधिक नहीं हो सकती है। इसके अतिरिक्त, अधिकांश लोन संस्थानों ने अपने टॉप-अप होम लोन की अवधि को 15 वर्ष तक सीमित कर दिया है। पर्सनल लोन की अवधि आमतौर पर 5 साल तक होती है, कुछ बैंक 7 साल तक की अवधि भी ऑफर करते हैं। इस प्रकार, कम ब्याज दर के साथ टॉप-अप होम लोन की लंबी अवधि पर पर्सनल लोन की तुलना में ईएमआई राशि कम होगी और इस तरह, ईएमआई भुगतान आसान होगा| इसलिए, मौजूदा होम लोन ग्राहक जो बड़ी लोन राशि लेना चाहते हैं, उन्हें टॉप-अप होम लोन अधिक उपयुक्त लगेगा।

निष्कर्ष

मौजूदा होम लोन ग्राहकों के लिए पर्सनल लोन की तुलना में टॉप-अप होम लोन एक बेहतर विकल्प है क्योंकि कम ब्याज दर, बड़ी लोन राशि और भुगतान अवधि भी लंबी होती है। हालांकि, पर्सनल लोन उन मौजूदा होम लोन उधारकर्ताओं के लिए उपयुक्त होगा जिन्हें जल्द ही पैसे की ज़रूरत है और उनके पास प्री-अप्रूव्ड टॉप-अप होम लोन ऑफर नहीं है।

अन्य ब्लॉग

अधिकांश लोगों को लगता हैं कि18 वर्ष कि आयु होने के ब...

Nikita
Nikita

अगर आपका सिबिल स्कोर कम है, जिसकी वजह से लोन लेने मे...

Vandana Punj
Vandana Punj

कृषि लोन (Agriculture Loan) खेती से संबंधित कामों के...

Vandana Punj
Vandana Punj