निवेश

फ्लेक्सी एफडी क्या है? यह रेगुलर एफडी से कैसे अलग है?

फ्लेक्सी एफडी क्या है? यह रेगुलर एफडी से कैसे अलग है?
Bharti
Bharti

आजकल लोग रेगुलर एफडी के साथ साथ फ्लेक्सी एफडी में निवेश करना पसंद कर रहें हैं। फ्लेक्सी एफडी जैसा कि नाम से ही पता चलता है, ऐसी एफडी जिसमें राशि जमा करने और निकालने की “फ्लेक्सिबिलिटी’ होती है। अगर आप अब तक फ्लेक्सी एफडी के बारे में नहीं जानते, तो इस लेख को ज़रूर पढ़ें। इस लेख में फ्लेक्सी के बारे में जानकारी दी गई है, साथ ही फ्लेक्सी एफडी और रेगुलर एफडी के बीच के अंतरों के बारे में भी बताया गया है।

फ्लेक्सी फिक्स्ड डिपॉज़िट क्या है?

फ्लेक्सी फिक्स्ड डिपॉज़िट के तहत आपके सेविंग या करेंट अकाउंट को एफडी अकाउंट से लिंक कर दिया जाता है। इसके साथ ही अकाउंट में राशि जमा करने की एक लिमिट तय की जाती है। अगर इस लिमिट से अधिक राशि अकाउंट में जमा की जाती है तो राशि एफडी में ट्रांसफर कर दी जाती है। फ्लेक्सी फिक्स्ड डिपॉज़िट में कस्टमर को रेगुलर एफडी की तरह जमा राशि पर ब्याज मिलता है। साथ ही इसमें सेविंग अकाउंट की तरह कभी भी पैसे निकालने की सुविधा दी जाती है।

फ्लेक्सी फिक्स्ड डिपॉज़िट की विशेषताएं

  • ब्याज दरें: फ्लेक्सी फिक्स्ड डिपॉज़िट की ब्याज दरें सेविंग अकाउंट में दी जाने वाली ब्याज दरों की तुलना में अधिक होती हैं।
  • जमा राशि: फ्लेक्सी एफडी में आप कितनी भी राशि जमा कर सकते हैं। हालांकि, जमा राशि को लेकर नियम और शर्तें एक बैंक से दूसरे में अलग-अलग हो सकती हैं।
  • आसान विड्रॉल: फ्लेक्सी एफडी की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि आप ज़रूरत के समय इसमें पड़ी राशि को कभी भी निकाल सकते हैं और आपको कोई पैनल्टी फीस नहीं देनी होगी|
  • लोन की सुविधा: फ्लेक्सी एफडी में जमा राशि के बदले लोन लिया जा सकता है। हालांकि, एफडी के बदले लोन की सुविधा एक बैंक से दूसरे में अलग हो सकती है।

फ्लेक्सी फिक्स्ड डिपॉज़िट और रेगुलर एफडी में अंतर

एफडी राशि का विड्रॉल: फ्लेक्सी एफडी और रेगुलर एफडी के बीच सबसे बड़ा अंतर राशि के विड्रॉल को लेकर है। फ्लेक्सी एफडी से पैसे निकालना सेविंग या करेंट अकाउंट से पैसे निकालने जितना आसान है। लेकिन रेगुलर फिक्स्ड डिपॉज़िट में से मैच्योरिटी से पहले पैसे निकालने पर आपको पैनल्टी फीस देनी होती है|

डिपॉज़िट: फ्लेक्सी एफडी की अवधि के दौरान आप कभी भी राशि जमा कर सकते हैं। वहीं रेगुलर एफडी में एक निश्चित अवधि के लिए एक बार में एकमुश्त राशि जमा की जाती है, इस अवधि के दौरान आप बार-बार राशि जमा नहीं कर सकते।

 

अन्य ब्लॉग

SBI MUDRA Loan- जानें एसबीआई ई-मुद्रा लोन क्या है और...

Vandana Punj
Vandana Punj

कैश क्रेडिट (Cash Credit) एक शॉर्ट टर्म लोन होता है,...

Vandana Punj
Vandana Punj

PAN Card Form- जानें पैन कार्ड फॉर्म 49A और 49AA क्य...

Vandana Punj
Vandana Punj