क्रेडिट कार्ड

क्रेडिट स्कोर के बिना भी मिल सकता है क्रेडिट कार्ड, जानें कैसे

क्रेडिट स्कोर के बिना भी मिल सकता है क्रेडिट कार्ड, जानें कैसे
Bharti
Bharti

क्रेडिट कार्ड देने से पहले बैंक और क्रेडिट कार्ड कंपनियां बहुत से कारकों पर गौर करती हैं जिन में से आपका क्रेडिट स्कोर भी एक है। आप जब क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करते हैं, तब बैंक और क्रेडिट कार्ड कंपनियां कार्ड देने में जोखिम की जांच करने के लिए आपका क्रेडिट स्कोर चेक करती हैं। आपको क्रेडिट स्कोर आपकी क्रेडिट हिस्ट्री के आधार पर तय होता है जो आपके द्वारा लिए गए लोन, क्रेडिट कार्ड के पेमेंट, डिफॉल्ट या लेट पेमेंट के बारे में बताता है। क्रेडिट कार्ड एक अनिसक्योर्ड लोन की तरह है जिसे देने में बैंक या कंपनी को जोखिम होता है। इस जोखिम की जांच करने और आवेदक को परखने के लिए वे क्रेडिट स्कोर चेक करते हैं।

आमतौर पर, आपका क्रेडिट स्कोर जितना ज़्यादा होता है बैंक और कंपनियां उतने ही अच्छे क्रेडिट कार्ड ऑफर करते हैं। दूसरी ओर, कम क्रेडिट स्कोर वाले आवेदकों को क्रेडिट कार्ड मिलने में मुश्किलें आती हैं क्योंकि उनके डिफॉल्ट की संभावनाएं अधिक होती हैं। लेकिन उन लोगों का क्या जिनका कोई क्रेडिट स्कोर ही नहीं है? ऐसा नहीं है कि बिना क्रेडिट स्कोर के क्रेडिट कार्ड मिलेगा ही नहीं। बिना क्रेडिट स्कोर या पहली बार क्रेडिट कार्ड लेने वाले आवेदकों को भी क्रेडिट कार्ड मिलता है, चलिए जानते हैं कैसे।

सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड

बिना क्रेडिट स्कोर या क्रेडिट हिस्ट्री के क्रेडिट कार्ड लेना चाहते हैं तो सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड से बेहतर कुछ नहीं हो सकता। सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के लिए कम या बिना क्रेडिट स्कोर वाला कोई भी व्यक्ति आवदेन कर सकता है। इस कार्ड के ज़रिए आपको अपना क्रेडिट स्कोर बनाने में मदद मिलती है। सिक्योर्ड कार्ड लेने के लिए आपको बैंक में एक फिक्स्ड डिपॉज़िट अकाउंट खुलवाना होगा। इसमें फिक्स्ड डिपॉज़िट को सिक्योरिटी के तौर पर रखा जाता है और उसके बदले क्रेडिट कार्ड दिया जाता है। इस क्रेडिट कार्ड पर जो क्रेडिट लिमिट मिलती है, वो आपके एफडी में जमा रकम पर आधारित होती है। आमतौर पर, सिक्योर्ड कार्ड की लिमिट आपकी एफडी राशि के 70% से 90% तक होती है। कुछ क्रेडिट कार्डों जैसे IDFC फर्स्ट वाओ पर एफडी राशि के 100% तक की लिमिट ऑफर की जाती है।

सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड लेने के ये फायदें हैं:-

  • इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपको बिना क्रेडिट हिस्ट्री या क्रेडिट स्कोर के क्रेडिट कार्ड मिलता है।
  • इस कार्ड के ज़रिए कस्टमर क्रेडिट स्कोर बना सकते हैं जिससे भविष्य में आप अन्य क्रेडिट कार्ड या लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • आपको क्रेडिट कार्ड तो मिलता ही है, साथ ही एफडी पर ब्याज का लाभ भी मिलता है।
  • क्रेडिट कार्ड आसानी से मिल जाता है
    अन्य क्रेडिट कार्ड की तरह ही ऑफर्स और रिवॉर्ड का लाभ उठा सकते हैं।

यह भी पढ़ें: सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड लेने के हैं कई फायदें, जानें इनके बारे में

ऐड-ऑन क्रेडिट कार्ड (सप्लीमेंट्री क्रेडिट कार्ड)

अगर आपके परिवार के किसी सदस्य के पास कोई क्रेडिट कार्ड है, तो वे आपके लिए उस क्रेडिट कार्ड पर एक ऐड-ऑन क्रेडिट कार्ड प्राप्त कर सकते हैं। ऐड ऑन क्रेडिट कार्ड या सप्लीमेंट्री क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल परिवार के सदस्य जैसे- पति-पत्नि, 18 साल से ज़्यादा की उम्र के बच्चे, माता-पिता कर सकते हैं। इसमें प्राइमरी क्रेडिट कार्ड के समान ही लाभ दिए जाते हैं। लेकिन इस क्रेडिट कार्ड पर मिलने वाली लिमिट, कार्ड जारी करने वाले बैंक के आधार पर प्राइमरी क्रेडिट कार्ड के समान या उससे कम हो सकती है। इसके अलावा ऐड ऑन क्रेडिट कार्ड के ज़रिए किए गए खर्च और अन्य चार्ज़ेस का भुगतान प्राइमरी क्रेडिट कार्ड होल्डर के अकाउंट से किया जाता है। आप अपने प्राइमरी क्रेडिट कार्ड पर 1 से 5 add on क्रेडिट कार्ड का लाभ उठा सकते हैं। ऐड-ऑन क्रेडिट कार्ड के लिए बैंक जाकर या फिर नेट बैंकिंग या मोबाइल बैंकिंग के ज़रिए आवेदन किया जा सकता है।

एंट्री लेवल क्रेडिट कार्ड

क्रेडिट कार्ड के लिए बैंक या कंपनी सिर्फ आपका क्रेडिट स्कोर ही चेक नहीं करती बल्कि कई अन्य बातों जैसे आपकी सैलरी,किसी कंपनी में काम करते हैं आदि का भी ध्यान रखती हैं। ऐसे में क्रेडिट स्कोर न होने के बावजूद आपको क्रेडिट कार्ड मिल सकता है। अगर आप एक नौकरीपेशा व्यक्ति हैं तो आपको उस बैंक में क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करना चाहिए, जहां आपका सैलरी अकाउंट है। चूंकि उस बैंक के साथ आपकी कंपनी के कॉर्पोरेट संबंध होते हैं जिस वजह से ऐसे बैंकों में क्रेडिट कार्ड मिलने की अधिक संभावनाएं होती हैं। कई बार बैंक खूद ही अपने मौजूदा कस्टमर्स को क्रेडिट कार्ड ऑफर करते हैं, इन्हें आप अपनी नेट बैंकिंग या मोबाइल बैंकिंग के ज़रिए चेक कर सकते हैं।

एंट्री लेवल क्रेडिट कार्ड लेने के फायदें:-

  • इन क्रेडिट कार्डों के ज़रिए अपना क्रेडिट स्कोर बना सकते हैं।
  • क्रेडिट कार्ड मिलने वाले रिवॉर्ड व ऑफर्स के ज़रिए बचत कर सकते हैं।
  • क्रेडिट स्कोर बनने से भविष्य में लोन व क्रेडिट कार्ड मिलने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं।

यह भी पढ़ें: क्रेडिट कार्ड लेने से पहले जानें उससे जुड़े 5 कॉमन टर्म्स के बारे में

निष्कर्ष

ऐसा हो सकता है कि क्रेडिट स्कोर न होने की वजह से आपको आपका पसंदीदा क्रेडिट कार्ड न मिले, लेकिन आप अपना क्रेडिट स्कोर बनाने के लिए एक बेसिक क्रेडिट कार्ड प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि, अपना पहला क्रेडिट कार्ड चुनते समय यह तय करें कि आपको किस तरह का कार्ड चाहिए। अपनी पसंद और ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए क्रेडिट कार्ड चुनना चाहिए। मान लीजिए, आप ट्रैवलिंग करना काफी पसंद करते हैं तो ऐसा कार्ड चुनें जो इससे संबंधित लाभ प्रदान करता हो जिससे आप अपनी खर्च में बचत कर सकेंगे। साथ ही, क्रेडिट कार्ड लेने के बाद उसका जिम्मेदारी से इस्तेमाल करना चाहिए। कार्ड से संबंधित फीस और बिलों का समय पर भुगतान करें, क्रेडिट कार्ड की पूरी लिमिट खर्च न करें। इन बातों का ध्यान रख आप अच्छा क्रेडिट स्कोर बना सकते हैं।

 

अन्य ब्लॉग

ऐड-ऑन क्रेडिट कार्ड क्या है? कार्ड लेने से पहले जानें उसके फायदे व नुकसान

ऐड-ऑन क्रेडिट कार्ड, जिसे सप्लिमेंट्री क्रेडिट कार्ड...

Vandana Punj
Vandana Punj
क्रेडिट कार्ड में मिलते हैं डेबिट कार्ड से ज्यादा फायदे

ज्यादातर लोग महीने की शुरुआत में, जब उनकी जेब भारी ह...

Nikita
Nikita
क्रेडिट कार्ड चोरी या खो जाने पर तुरंत करें ये काम

कैश की तुलना में क्रेडिट कार्ड का उपयोग करना काफी आस...

Nikita
Nikita