क्रेडिट कार्ड

क्रेडिट कार्ड का चुनाव करते समय इन गलतियों से रहें सावधान

क्रेडिट कार्ड का चुनाव करते समय इन गलतियों से रहें सावधान
Nikita
Nikita

क्रेडिट कार्ड हमारी दैनिक वित्तीय आदतों का एक अभिन्न अंग बन गया है, क्योंकि यह न केवल इस्तेमाल करने में आसान है बल्कि बैंक अकाउंट में पैसे न होने पर भी आप इसका इस्तेमाल करके ट्रांसक्शन कर सकते है, शॉपिंग कर सकते है। हालांकि जब आप क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने का निर्णय लेते हैं तो अक्सर कुछ ऐसी चीजें होती हैं जो आपको नहीं करनी चाहिए। क्योंकि यदि आप क्रेडिट कार्ड का सही ढंग से उपयोग नहीं करते हैं, तो आप गलतियों के बड़े से जाल में फंस सकते हैं। यहां हमने क्रेडिट कार्ड के उपयोग से जुड़ी कुछ सामान्य गलतियों के बारे बताया हैं जिनपर आपको विचार करने की जरूरत हैं…

सही कार्ड के लिए चुनाव न करना

क्रेडिट कार्ड से जुड़े नियमों और शर्तों को जाने बिना क्रेडिट कार्ड लेना एक सामान्य गलती है जो लोग करते हैं। मान लीजिए कि आप ऐसे व्यक्ति नहीं हैं जो अक्सर ट्रैवल करते हैं, तो ऐसा क्रेडिट कार्ड चुनना जो मुख्य रूप से ट्रैवल पर ही रिवार्ड्स, कैशबैक और अन्य लाभ प्रदान करते है तो, आपके लिए ये कार्ड बेहतर नहीं है। ऐसी स्थिति में आप न तो कार्ड का लाभ उठा पाएंगे और न ही कार्ड आपकी आवश्यकताओं को पूरा कर पाएगा। इसलिए क्रेडिट कार्ड चुनने से पहले इसकी विशेषताओं और फायदों को समझना जरूरी है। ऐसे कार्ड के लिए आवेदन करें जो आपकी आवश्यकताओं को पूरा करता तो। 

ये भी पढ़ें: प्री-अप्रूव्ड क्रेडिट कार्ड ऑफर क्या है? कार्ड लेने से पहले इन बातों का रखें ध्यान

अपने खर्च करने की आदतों को नजरअंदाज करना

हम अपनी खर्च करने की आदतों पर विचार किए बिना क्रेडिट कार्ड चुन तो लेते है पर हम यह ध्यान नहीं देते की सबसे ज्यादा कहां खर्च करते हैं। जो यह हमारे द्वारा की जाने वाली बड़ी गलतियों में से एक है। यह समझने के लिए कि सबसे अधिक कहां खर्च हो रहा हैं, पिछले कुछ महीनों में अपने खर्च करने के पैटर्न को देखे, अपने बिलों पर नजर डालें। 

क्रेडिट कार्ड बेनिफिट्स, कैशबैक और रिवॉर्ड पॉइंट ग्राहकों के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। उदाहरण के लिए: फ्यूल क्रेडिट कार्ड पर कस्टमर को फ्यूल खरीदने पर रिवॉर्ड पॉइंट दिए जाते हैं। ट्रैवल कार्ड में ट्रैवलिंग के दौरान बचत करने,  फ्री फ्लाइट और डिस्काउंटेड होटल स्टे आदि का लाभ उठा सकते हैं। शॉपिंग क्रेडिट कार्ड – इन क्रेडिट कार्डों की मदद से आप ऑनलाइन और ऑफलाइन शॉपिंग में बचत कर सकते हैं। ऐसे कई सारे कार्ड्स है जो आपको ऑफर किए जाते हैं पर आपके खर्चे क्या है? या आपकी जरूरते क्या हैं? आप सबसे अधिक कहां खर्च करते हैं? इन सभी बातों को ध्यान में रखे तब जाकर अपने क्रेडिट कार्ड का चुनाव करें और बचत के साथ-साथ कैशबैक, रिवॉर्ड पॉइंट्स और बेनिफिट्स का लाभ उठाएं । 

वार्षिक शुल्क पर ध्यान न देना 

क्रेडिट कार्ड अक्सर वार्षिक शुल्क के साथ आते हैं, जो क्रेडिट कार्ड कंपनियों द्वारा दिए जाने वाले लाभों के आधार पर काफी अलग हो सकते हैं। जबकि कुछ कार्ड हवाई अड्डे के लाउंज एक्सेस और फ्री फ्लाइट जैसे प्रीमियम लाभ प्रदान करते हैं,जो अधिक एनुअल फीस के साथ आ सकते हैं। इसलिए सबसे पहले अपनी जरूरतों पर विचार करें। यदि आप एनुअल फीस कम करना चाहते हैं तो बिना वार्षिक शुल्क या कम वार्षिक शुल्क वाले कार्ड का विकल्प चुनें। 

ये भी पढ़ें: क्रेडिट कार्ड चोरी या खो जाने पर तुरंत करें ये काम

ब्याज दरों की अनदेखी

क्रेडिट कार्ड की ब्याज दरें अधिक हो सकती हैं, खासकर तब जब आप अपने बिलों का भुगतान करने में देरी करते हैं। बहुत से लोग क्रेडिट कार्ड चुनते समय ब्याज दरों को नजरअंदाज कर देते हैं और केवल रिवॉर्ड, कैशबैक और मिलने वाले बेनिफिट्स पर ध्यान देते हैं। आप समय के साथ ब्याज शुल्क बचाने के लिए कम एनुअल परसेंटेज रेट (APR) वाले कार्ड का विकल्प चुनें। कई कार्ड 0% APR ऑफर के साथ आते हैं, जहां आपसे एक निर्धारित समय सीमा के लिए नई खरीदारी, बैलेंस ट्रांसफर या दोनों पर ब्याज नहीं लिया जाएगा। हालांकि, आपको  यह जानने के लिए ऑफर से जुड़े सभी डिटेल्स चेक करनी चाहिए कि 0% एपीआर अवधि कब शुरू और कब खत्म होती है, साथ ही ऑफर समाप्त होने पर क्या शर्तें हैं।

एक समय में बहुत सारे क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करना 

एक समय में बहुत सारे क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन न करें। बार-बार अलग-अलग कार्डों के लिए आवेदन करने से पता चलता है कि आपको इसकी ज्यादा जरूरत है और आप वित्तीय संकट के कारण क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर रहें है। यदि आप एक ही समय पर एक से अधिक क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर रहे हैं, तो बैंक और क्रेडिट कार्ड कंपनियों द्वारा आपके आवेदन को रिजेक्ट किया जा सकता है। इसके अलावा, जब भी आप क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करते हैं तो कार्ड कंपनियां आपके क्रेडिट स्कोर को चेक करते हैं। आप जितनी बार क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करेंगे उतनी बार आपका क्रेडिट स्कोर चेक किया जाएगा और बार-बार बैंक या क्रेडिट कार्ड कंपनियों द्वारा क्रेडिट स्कोर चेक करना आपके क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकती है, जिसके परिणामस्वरूप लोन और क्रेडिट कार्ड आवेदन अस्वीकार हो सकते हैं। 

ये भी पढ़ें: क्रेडिट कार्ड पर लोन लेने से पहले जानें उसके फायदे और नुकसान

निष्कर्ष 

क्रेडिट कार्ड की इन गलतियों से बचकर, आप क्रेडिट कार्ड चुनते समय सही निर्णय ले सकते हैं। बस आपको क्रेडिट कार्ड के नियम और शर्तों को समझना होगा, अपनी खर्च करने की आदतों को ध्यान में रखकर, फीस और ब्याज दरों पर विचार करना आदि जैसी चीजों को प्राथमिकता देकर याद रखें। सही तरह से चुना गया क्रेडिट कार्ड न केवल फाइनेंशियल फ्लेक्सिबिलिटी  प्रदान कर सकता है बल्कि आपको कई सारे रिवॉर्ड पॉइंट्स, शानदार कैशबैक भी प्रदान कर सकता है।

 

अन्य ब्लॉग

NEFT क्या है? NEFT का फुल फॉर्म और यह कैसे काम करता है? जानिए सबकुछ

आज के इस आर्टिकल में हम NEFT के प्रमुख पहलुओं पर चर्...

Nikita
Nikita
Difference Between IMPS, NEFT & RTGS: फुल फॉर्म, ट्रांजैक्शन लिमिट, फीस और सर्विस टाइमिंग के साथ जानिए सबकुछ

आजकल, एनईएफटी, आरटीजीएस और आईएमपीएस जैसे विभिन्न ऑनल...

Nikita
Nikita

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) अपने कर्मचारियों...

Vandana Punj
Vandana Punj